बस एक सत्संग सुनाने से कैसे चोर का जीवन बदला | How Just One Satsang Changed A Thief’s Life |”कैसे सिर्फ एक गुरु की बात ने एक चोर की जिंदगी बदल दी.

बस एक सत्संग सुनाने से कैसे चोर का जीवन बदला | How Just One Satsang Changed A Thief's Life |"कैसे सिर्फ एक गुरु की बात ने एक चोर की जिंदगी बदल दी.

0
119
beautiful story of a thief
beautiful story of a thief

बस एक सत्संग सुनाने से कैसे चोर का जीवन बदला | How Just One Satsang Changed A Thief’s Life |”कैसे सिर्फ एक गुरु की बात ने एक चोर की जिंदगी बदल दी.

एक नगर में एक कुख्यात चोर रहा करता था । उसने अपने पुत्र को भी चोरी करना सिखा दिया था । मरते समय उसने अपने पुत्र को शिक्षा दी.

– “ बेटा ! तू चाहे जो कुछ करना , परंतु कभी किसी संत के सत्संग का हिस्सा न बनना । ” एक बार वह लड़का रात में चोरी करने निकला तो मार्ग में एक संत का आश्रम पड़ा । उसे सुनाई पड़ा कि संत अपने शिष्यों से कह रहे थे—

” इस संसार में कर्म की गति है । हर व्यक्ति को अपने शुभ व अशुभ कर्मों का फल भुगतना ही पड़ता है । ” बस , इतना – सा वाक्य उसके कान में पड़ने की देरी थी कि उसके मन में उथल – पुथल मच गई । चोरी करना भूलकर वह संत के पास पहुँचा और उनसे पूछने लगा कि क्या उसे भी उसके दुष्कर्मों का फल भुगतना पड़ेगा ? संत बोले – “ निश्चित रूप से । ” संत की बात सुनकर उसने अपने कुकर्मों का प्रायश्चित करने हेतु साधक का जीवन अपना लिया । क्षण भर के सत्संग से उसका पूरा जीवन बदल गया । 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here